Navjot Singh Sidhu Resigns For Panjab Congress Head

आज दोपहर को नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा वो जुलाई में ही पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे। नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर इस्तीफा दिया है और अपना इस्तीफा सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया और ट्विटर पर लिखा ,”समझौता करने से इंसान का पतन हो जाता है और मैं कांग्रेस के भविष्य और पंजाब की भलाई के एजेंडे से कभी समझौता नहीं कर सकता हूं…इसलिए, मैं पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं… कांग्रेस की सेवा करता रहूंगा…”

अगले वर्ष की शुरआत में पंजाब में इलेक्शन होने है इसी को लेकर कांग्रेस पार्टी में अफरा तफरी मची हुई है कुछ दिन पहले ही कैप्टन अमरिंदर सिंह से इस्तीफा लेकर चरणजीत चन्नी को CM बनाया गया था। इससे कैप्टन भी कांग्रेस पार्टी से नाराज़ है। कैप्टन को CM से हटाने के लिए सिद्धू ने ही मोर्चा खोला था और जब वो खुद CM नहीं बने तो उन्होंने आलाकमान से चन्नी को CM बनवा दिया।

कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू में पहले से ही 36 का आकड़ा है और वो एक दूसरे को बिलकुल भी पसंद नहीं करते.कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू पर तंज करते हुए  मीडिया से कहा की में तो सिद्धू को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के खिलाफ था और मैंने पहले ही कहा था कि वह इस सीमाई राज्य के लिए सही व्यक्त‍ि नहीं हैं। पर कांग्रेस आलाकमान ने मेरी बात नहीं मानी सिद्धू को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष  बनाने में प्रियंका गाँधी का अहम् रोल था 

सिद्धू कुछ फैसलों को लेकर CM चन्नी से नाराज थे

वो CM चन्नी के द्वारा नियुक्त किये गए एडवोकेट जनरल और डीजीपी की नियुक्ति से खुश नहीं थे इसी से नाराज सिद्धू ने इस्तीफा दिया.और अब सिद्धू के इस्तीफे के बाद पंजाब कांग्रेस में घमासान हो गया है और सिद्धू के समर्थन में कई मंत्रियो और नेताओ ने भी अपने पद से इस्तीफे देने शुरू कर दिए है। गौतम सेठ ने पंजाब कांग्रेस महासचिव के पद से इस्तीफा दे दिया है, और कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्ताना ने भी इस्तीफा दे दिया है और उनके समर्थक नेता और कार्यकर्ता उनके घर पटियाला भी पहुंच रहे है और सिद्धू के घर पर बैठको का दौर शुरू हो गया है

पटियाला में सिद्धू के घर जाकर मिले परगट सिंह और राजा बरार , सिद्धू  से मुलाकात करने के बाद अमरिंदर सिंह राजा ने कहा कुछ छोटे मुद्दे हैं और कुछ गलतफहमियों की वजह सिद्धू नाराज़ थे।वो सभी कल तक सुलझा लिए जायेंगे.वही इस मामले पर कांग्रेस आलाकमान ने स्टेट लीडर से अपने स्तर पर मामले को हल करने को कहा है और पार्टी ने नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed