charanjit-singh-channi-cm-panjab
कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक, चरणजीत सिंह चन्नी बने पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री, आज कांग्रेस नेता और विधायक चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। मुख्यमंत्री के साथ दो उपमुख्यमंत्रियों- ओपी सोनी और सुखजिंदर रंधावा ने भी शपथ ली।
इस अवसर पर पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण के दौरान कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और मौजूदा सांसद राहुल गांधी, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ समेत अन्य बड़े नेता मौजूद और अन्य शामिल थे। पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए, हालांकि उन्होंने चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब के CM बनने की शुभकामनाएं दी थीं। 
आइये जानते है चरणजीत सिंह चन्नी के बारे में , 
चरणजीत सिंह चन्नी चमकौर साहिब विधानसभा सीट से विधायक हैं और कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री थे। इससे पहले वह 2015 से 2016 तक पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता थे। चमकौर साहिब सीट से चन्नी तीसरी बार विधायक हैं।चरणजीत सिंह चन्नी ने अपना पहला विधान सभा चुनाव निर्दलीय जीता था। 
आज सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओपी सोनी ने भी उप मुख्यमंत्री की शपथ ली। 
सुखजिंदर सिंह रंधावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता है और कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में जेल और सहकारिता मंत्री थे। वह डेरा बाबा नानक सीट से तीसरी बार विधायक है। वे राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष और महासचिव पद पर भी वे रह चुके हैं, रंधावा को राजनीति विरासत में मिली है.उनके पिता संतोख सिंह वरिष्ठ कांग्रेसी नेता थे। वो दो बार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष रहे। सुखजिंदर सिंह रंधावा मूल रुप से पंजाब के माझा क्षेत्र के गुरदासपुर के रहने वाले हैं
ओपी सोनी पांच बार विधान सभा का इलेक्शन जीत चुके है। वह अमृतसर की अलग अलग विधान सभा सीटों चुनाव लड़कर 5 बार विधान सभा पहुच चुके है 2 बार तो वो निर्दलीय चुनाव जीत चुके है। वो कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में शिक्षा मंत्री और मेडिकल एजुकेशन मंत्री रह चुके है। वो अमृतसर के पहले मेयर रह चुके है। ओपी सोनी अमृतसर के रहने वाले है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed